सोलर सिस्टम क्या है? Solar System In Hindi Detail.

Solar System IN Hindi – दोस्तों सौर मण्डल में बहुत सारे ग्रह है जो इक दुसरे ग्रहों के साथ  गुरुत्वाकर्षण बल के द्वारा जुड़े है. ये सभी गृह ब्रह्मांड में चक्कर लगाते रहते है. ये जो सौर्य मण्डल (Solar System) है वो बहुत सारे गृह अल्कपिंड धूमकेतु जैसे ग्रहों से मिलकर बनता है. solar system के बारे में आपने किताबो में बहुत पड़ा होगा लेकिन कुछ बाते और सवाल ऐसे भी है जिनका उत्तर सायद उन किताबो में  नही है. इसलिए आप हम आपको बताने वाले है की सोलर सिस्टम क्या है – Solar System in hindi और इसके बारे में पूरी जानकारी. ब्रह्मांड के रहस्य जैसे प्रश्नों का खुलासा कर देने वाली जानकारी. सौर्य मण्डल सूर्य और उसके उसके चारो और चक्कर लगाने वाले विभिन्न प्रकार के ग्रहों से मिलकर बनता है जिसके मध्य भाग में सूर्य  स्थिर होता है जिसके     चारो और  गृह चक्कर     लगाते है. चलिए जानते है सोलर सिस्टम की पूरी जनकारी हिंदी में.

solar System in hindi

solar System in hindi

 

Solar System In Hindi – सौर्य मण्डल

अब हम आपको उन ग्रहों के बारे में बताने वाले है जो सूर्य के सबसे ज्यादा निकट चक्कर लगते है और उन ग्रहों के बहुत सारे fact है. तो चलिए जानते है.

बुध गृह (Mercury) – 

  • बुध गृह सोर्य मण्डल का सबसे छोटा गृह है.
  • बुध गृह सूर्य के सबसे ज्यादा निकट रहता है.
  • यह गृह 88 दिन में सूर्य का पूरा  1 चक्कर लगता है.
  • बुध गृह पर रातें बर्फीली और दिन बहुर गर्म होता है.
  • बुद्ध गृह का गुरुत्वाकर्षण प्रथ्वी का 3/8 भाग  होता है.

शुक्र (Venus) – 

  • शुक्र गृह दूसरा ऐसा गृह है जो सोर्य मण्डल में सूर्य के सबसे करीब है.
  • यह गृह प्रथ्वी के भी बहुत निकट है.
  • शुक्र गृह का कोई उपग्रह नही है ये स्वतंत्र है
  • प्रथ्वी और शुक्र गृह का भाई बहन का रिश्ता मन जाता है क्युकी ये दोनों एक जैसे गृह है
  • शुक्र गृह  का तापमान दिन व् रात को सामान होता है. यह इक गर्म गृह है.
  • शुक्र गृह सूर्य की परिक्रमा पूरी करने में २५५ दिन का समय लगता है.

मंगल (Mars) – 

  • मंगल गृह गृह को लाल गृह भी कहते है, सूर्य से मंगल गृह की दुरी 22.79 cr km है.
  • इसका स्थान सोर्य मंडल में सूर्य से छोटे स्थान पर है.
  • मंगल गृह के २ उपग्रह है जिनका नाम फोबस और डीमोस  है.
  • मंगल गृह पर प्रथ्वी की तरह मौसम बदलता रहता है. जिसका मैं कारन है इसका प्रथ्वी की  धुरी की और झुका हुआ होना.

बृहस्पति (Jupiter) – 

  • ब्रहस्पति गृह सोर्यामंडल का सबे बड़ा गृह होने के साथ साथ यह सूर्य से पाचवे स्थान पर है.
  • यह सूर्य की परिक्रमा लगाने में पुरे 11.9 वर्ष का समय लगता है. और ब्रहस्पति गृह का घनत्व प्रथ्वी का इक चोथाई है.
  • ब्रहस्पति गृह का अपना रेडियो उर्जा है और ये तारो की तरह भी सूर्य से उर्जा लेकर उससे ज्यादा मरता में उर्जा छोड़ता है.
  • ब्रहस्पति गृह के  ६९ गृह है और इसके वायुमंडल में सबसे ज्यादा हीलियम और  हैड्रोजन गैस पाई जाती है.
Solar System Hindi Detail

Solar System Hindi Detail

शनि (saturn) – 

  • शनि गृह सोर्य मण्डल का सबसे बड़ा दूसरा गृह है जो ब्रहस्पति के बाद आता है.
  • शनि गृह सूर्य से छठे स्थान पर है जो सूर्य की परिक्रमा 29.5 वर्ष में पूर्ण कर पता है.
  • शनि गृह के २१ उपग्रह है जिनमे से सबसे बड़ा उपग्रह TITAN है.
  • यह नंगी आँखों बिना किसी टेलिस्कोप के जरिये देखा जा सकता है जिसका घनत्व पथ्वी से कम होता है.

Also Read

अरुण (Uranus) –

  • अरुण गृह सूर्य से सातवे स्थान पर है जो की स्रुया का पूरा चक्कर 84 वर्ष में पूरा करता है
  • अरुण गृह के १५ उपग्रह है जिसके वायुमंडल में सबसे ज्यादा मीथेन गैस मिलती है.
  • यह इक ध्रुव से दुसरे ध्रुव तक की पूरी परिक्र्ना अपने कक्ष में सौर्य के सामने लगता है.

वरुण (Neptune) –

  • यह सूर्य से आठवे स्थान पर है रह इक तीर्सा  ऐसा गृह है जिसपे लाइव ज्वालामुखी पाया गया है.
  • वरुण के वयुम्नादल में नाइट्रोजन गैस ज्यादा पायी जाती है.
  • इसके २ उपग्रह सबसे बड़े उपग्रह है जिनका नाम (triton) और (Proteus) है.

यम (Pluto) –

  • यम गृह छोटे गृह की लिस्ट में आता है जिसका व्यास 300 कि.मी. है. इस गृह की खोज करने वाले वैज्ञानिको ने बताया की ये गृह नही इक पिंड है solar system in hindi detail.
  • यम की दुरी सूर्य से दुरी  586.56 कि.मी और यह सूर्य की पूरी परिक्रमा लगाने में 248 वर्ष का समय लगता है.
  • इसके ५ उपग्रह भी है.
  • यम गृह सोर्य मण्डल का नोवा गृह है.

पृथ्वी (Earth) –

  • प्रथ्बी वह गृह है वह पर इन्सान जीव जंतु रहते है. प्रथ्वी पर सभी प्रकार  की सुविधा है जल वायु सब कुछ जो व्यक्ति को जीवित रखने के लिए जरुर होती है.
  • प्रथ्वी का भूमध्यरेखीय व्यास 12,757 कि.मी. है जो वैज्ञानिको ने बहुत सही तरीके से कैलकुलेट किया है.
  • प्रथ्वी का ध्रुवीय व्यास 12,714 कि.मी. है.
  • प्रथ्वी पर समय समय पर ऋतू बदलती रहती है.
  • पप्रथ्वी के लगातार गुमने से ही दिन ओ रात होती है.
  • प्रथ्वी सूर्य का चक्कर 23 घंटे 56 मिनट एवं 4 सेकंड में लगाती है.
  • प्रथ्वी पर 71% भाग में जल है और बाकि के 21% भाग में स्थल मंडल है वह पर जीव जंतु रहते है.

तो है ये सभी गृह जो सोर्य मंडल (solar system)  में पाए जाते है जो सूर्य की परिक्रमा लगाते है. सभी ग्रहों के रहस्य भी आप जान गये होगे.

ये भी पड़े 

FInal Word –

दोस्तों ये थी जानकरी सोर्य मण्डल और उसके रहस्य की मुझे आशा है आपको जानकारी पसंद आई होगी और जानकारी महत्वपूर्ण भी लगी होगी. अगर आपको जानकारी “Solar System In Hindi” हेल्पफुल लगी हो तो इसे शेयर जरुर करे. ऐसी ही रोचक जानकारी पाने के लिए डेली विजिट करे.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *